ट्रेन की छत पर ये गोल-गोल क्या हैं और ये क्यों लगाए जाते हैं? बहुत कम लोग जानते हैं सही जवाब

pic credit -  gaharwarji.com

Gaharwarji.com

कभी खुले रेलवे स्टेशन पर बने ब्रिज या सड़क पर बने ब्रिज के जरिए ट्रेन का ऊपरी हिस्सा देखा होगा। 

pic credit - gaharwarji.com  

जब आपको ट्रेन पर यह गोल गोल सर्किल दिखे होंगे। तो आज जानते हैं ये क्या हैं और इसका क्या यूज होता है?

pic credit - gaharwarji.com  

 बहुत कम लोग जानते हैं कि इसका क्या मतलब होता है 

pic credit - gaharwarji.com  

क्योंकि ट्रेन के अंदर से ऐसा कुछ दिखाई नहीं देता है। तो आज जानते हैं कि आखिर ये क्या हैं और क्यों बने होते हैं ?

pic credit - gaharwarji.com  

दरअसल, ट्रेन की छतों पर लगाई गई इन प्लेट या गोल-गोल आकृतियों को रूफ वेंटिलेटर कहते हैं।

pic credit - gaharwarji.com  

ट्रेन के डिब्बे में जब यात्रियों की संख्या ज्यादा हो जाती है तो उसमें उमस काफी बढ़ जाती है। 

pic credit -  gaharwarji.com 

इस गर्मी या सफोकेशन को बाहर करने के लिए ट्रेन के कोच में खास व्यवस्था की जाती है, वर्ना बहुत मुश्किल हो सकती है। 

pic credit - gaharwarji.com  

खुले कोच में देखा होगा कि अंदर की तरह की एक जाली लगी होती है जो गैस पास करती है। यानी कोच पर कहीं कहीं जाली लगी होती है। 

pic credit - gaharwarji.com  

और छेद होते हैं। जिससे हवा पास होती है, गर्म हवाएं हमेशा ऊपर की ओर उठती हैं इसलिए कोच के अंदर छतों पर छेद वाली प्लेटें लगाई जाती हैं। 

pic credit - gaharwarji.com  

जहां से गर्म हवाएं कोच से बाहर निकल जाती हैं। ये गर्म हवाएं कोच के भीतर वाले छेद से होते हुए बाहर की ओर लगाए गए रूफ वेंटिलेटर के रास्ते बाहर निकल जाती हैं। 

pic credit - gaharwarji.com